भरतपुर में बीच सड़क पर डॉक्टर दंपति को गोली से भूना, दोनों की मौत

राजस्थान के भरतपुर जिले में बदमाशों का खौफ बढ़ता जा रहा है। अपराधियों के आगे पुलिस बेबस नजर आ रही है। सांसद रंजीता कोली पर हमले के एक दिन बाद भरतपुर शहर की बीच सड़क पर बाइक सवार दो युवकों ने डॉक्टर दंपति को गोलियों से भून दिया। दोनों युवकों ने डॉक्टर सुदीप गुप्ता और उनकी पत्नी सीमा के उस समय गोली मारी जब वे अपनी कार से मंदिर जा रहे थे। पुलिस ने दोनों आरोपितों की पहचान कर ली है। इनमें एक आरोपित डॉ.सुदीप गुप्ता की पूर्व प्रेमिका का भाई अनुज और दूसरा उसके मामा का लड़का है।

पुलिस महानिरीक्षक प्रसन्न कुमार खमेसरा ने बताया कि दोनों आरोपित धौलपुर के रहने वाले हैं। जल्द ही उन्हे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जानकारी के अनुसार डॉक्टर दंपति शुक्रवार शाम अपने अस्पताल से मंदिर जा रहे थे कि बाइक सवार दो युवकों ने पीछे से ओवरटैक करते हुए कार के आगे आकर बाइक लगा दी । मौके से मिले सीसीटीवी फुटेज के अनुसार मुंह पर कपड़ा बांधे दोनों आरोपित कार के आगे बाइक खड़ी कर के डॉ.सुदीप के पास गए उन्होंने कांच खोलकर रास्ता रोकने का कारण पूछा कि इतनी ही देर में एक युवक ने दंपति पर पिस्तोल से फायरिंग कर दी। दोनों के कुल 6 गोलियां लगी। दंपति की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपित वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गए।

पूर्व प्रेमिका की मौत से जुड़ा है मामला

दरअसल, डॉक्टर दंपति के अस्पताल में एक साल पहले धौलपुर निवासी दीपा गुर्जर नाम की एक युवती रिसेप्शन पर नौकरी करती थी । इस दौरान डॉ.सुदीप के उससे प्रेम संबंध हो गए थे। उन्होंने उसे भरतपुर में ही अपना एक विला दिया,जिसमें वह अपने 6 साल के बेटे के साथ रहती थी । इस बात की जानकारी डॉ.सुदीप की पत्नी सीमा को लगा तो एक साल पहले अपनी सास सुरेखा के साथ विला में पहुंची। वहां दीपा गुर्जर के साथ सीमा और उसकी सास का झगड़ा हुआ था।

इस दौरान सीमा ने अपनी सास के साथ मिलकर दीपा गुर्जर और उसके बेटे को रसोई में बंद कर घर में स्प्रीट छिड़कर आग लगा दी थी । जिससे दोनों मां-बेटे की जिंदा जलने से मौत हो गई थी । इस मामले में डॉक्टर दंपति को सजा हुई थी । वे कुछ दिन पहले ही जमानत पर जेल से बाहर आए थे । अपनी बहन और भांजे की मौत का बदला लेने के लिए अनुज काफी दिनों से डॉक्टर दंपति पर नजर रख रहा था, आखिरकार उसने दोनों की हत्या कर दी ।

error: Content is protected !!